ओपन नुक्लेउस ब्रीडिंग सिस्टम (ओएनबीएस)

ओपन नुक्लेउस ब्रीडिंग सिस्टम (ओएनबीएस)

ओपन न्यूक्लियस प्रजनन प्रणाली का मूल उद्देश्य बहु अंडाणु एवं भ्रूण अंतरण का प्रयोग करते हुए नर और मादा का एक विशिष्ट झुंड (या कुछ विशिष्ट झुंडों) बनाना तथा झुंडों में गहन चयन और परीक्षण करना है। इसके द्वारा (पारिवारिक जानकारी के आधार पर) नर और मादा का कम उम्र में चयन किया जाता है। इसमें यह चयन न तो उनके वंशज के आधार पर किया जाता है, जैसा कि संतति चयन कार्यक्रम में, और न ही नस्ल चयन कार्यक्रम की तरह माता-पिता के आधार पर।

चूंकि नर की गुणवत्ता का मूल्यांकन उसकी बहनों तथा सौतेली बहनों के प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है-जिसे सहोदर परीक्षण कहा जाता है, न कि संतति के प्रदर्शन के आधार पर, इससे पीढ़ी अंतराल में काफी कमी आती है। हालांकि सहोदर परीक्षण में चयन की सटीकता संतति परीक्षण से कम होती है पर पीढ़ी अंतराल में कमी के लाभ सटीकता में कमी से अधिक होते हैं।

एक अच्छी तरह से संचालित ओएनबीएस के तहत अनुवंशिक परिणाम पारंपरिक संतति परीक्षण कार्यक्रम की तरह उच्च हो सकता है। चूंकि चयन और परीक्षण एक झुंड या कुछ झुंडों में किया जाता है, आनुवंशिक परिवर्तन के निर्धारक जैसे कि चयन की गहनता, पीढ़ी अंतराल और चयन की सटीकता पर अधिक नियंत्रण संभव है।